इस संसार में सभी सफ़ल होना चाहते हैं। हर कोई चाहता है कि उसकी life में Success , Money और Happiness हो। उसके आस पास हमेशा उसकी तारीफ करने वाले लोग हो। जो उसके काम की तारीफ़ करें। लेकिन जीवन की सबसे बड़ी विडंबना यह है कि बहुँत से लोग गंभीरता से प्रयास करते है कड़ी मेहनत भी करते है इसके बावजूद वे असफ़लताओ से घिरे रहते हैं। तो ऐसा क्या है जिसकी वजह से हम सबकुछ करते हुए भी Success नही हो पाते हैं..!

आज मैं इस आर्टिकल में इसी विषय पर चर्चा करूँगा। आज मैं आपको 5 ऐसे प्रमुख कारण बताऊंगा जो हमारे कड़ी मेहनत के बावजूद हमें सफल नही होने देती हैं। असफ़लताओ के इन 5 कारणों के बारें में पढ़ते समय आप यह ध्यान रखें कि कही इन 5 कारणों में से कुछ कारण आपको भी तो नहीं रोक रहे है सफल होने से।

5 Major Reasons for Our Failures in hindi | हमारी असफ़लताओ के 5 प्रमुख कारण।

चलिए जान लेते है असफ़लताओ के इन 5 कारणों के विषय मे।


1) जीवन में अच्छी तरह परिभाषित लक्ष्य का अभाव ( Lack of well-defined goal in life) :-

यदि आप के पास कोई अच्छा परिभाषित Goal नही है जो Clear हो जिसपर निशाना साधा जा सके तो समझ लीजिए आपके लिए सफ़लता की कोई आशा नही हैं। आपके Life में एक Clear और Fixed Goal होना बहुँत जरूरी हैं।

आज हमारे आसपास जितने भी लोग असफ़लताओ से घिरे है आप देख सकेंगे कि उनके पास कोई भी निश्चित केंद्रीय लक्ष्य नही हैं। यह उनकी असफ़लता का एक कारण हो सकता हैं। इसलिए आप भी अपने अंदर झांक के देखे की क्या आपके पास कोई Clear और Fixed लक्ष्य है..?


2) आत्म- अनुशासन की कमी का होना ( Lack of self-discipline ):-

यह एक ऐसी चीज़ है जो हमे खुद पर नियंत्रण से हासिल करना होता हैं। आपके आसपास कैसी भी स्थिति हो,उनको नियंत्रित करने से पहले आपको खुद पर नियंत्रण करना होगा। खासकर आप अपने नकारात्मक गुणों (Negative Habits ) पर नियंत्रण करने कि कोशिश करे। दुनिया का सबसे कठिन काम कहा जा सकता है खुद को अनुशासित ( Disciplined ) करना।

यदि आप खुद से नही जीत पाएंगे तो आप किसी और से नही बल्कि खुद से हार जाएंगे। आप खुद को शीशे में देखे,आपको अपना सबसे बड़ा दोस्त और दुश्मन एक साथ नज़र आ जायेगा। इसलिए खुद पर अनुशासन न होना भी हमारी असफ़लताओ का एक कारण है।


3) टालमटोल करने की आदत ( Procrastination habit ):-

हमारी असफ़लता का यह सबसे बड़ा और आम कारण है। हममें से अधिकांश लोग बस इसी कारण से असफल है क्योंकि हम अपने कार्य को शुरू करने के लिए “सही समय” का चुनाव करने का इंतज़ार करते रहते हैं। इसलिए इंतज़ार करना सबसे बड़ी बेवकूफी है। आप जहां खड़े है और आपके पास जो भी संसाधन ( Resources ) हैं उसी से अपनी नई शुरुवात कीजिये।

जैसे -जैसे आप आगे बढ़ेंगे आप देखेंगे कि आपके पास और अधिक संसाधनो का भंडार आता जा रहा हैं और आप असफ़लताओ को पीछे छोड़ चुके हैं। बस शुरुआत कीजिए क्योंकि सही समय कभी भी पूरी तरह से सही नही होगा।


4) लगातार लगन का अभाव ( Lack of passion ):-

हमारे आसपास ऐसे बहुँत से लोग है जो शुरुआत तो बहुँत अच्छी करते हैं , लेकिन अपने शुरू किए गए काम को खत्म करने में बहुँत कामचोरी करते हैं। ऐसे लोगों को यदि थोड़ी-सी भी असफल होने की गुंजाइश नज़र आती है तो यह हिम्मत हार जाते हैं। किसी भी काम को पूरा करने के लिए लगन का होना बहुँत जरूरी है क्योंकि इसका कोई विकल्प नही हैं।

जो व्यक्ति लगन को अपना मंत्र बना लेता है उसे एहसास हो जाता है कि लगन के आगे असफ़लताओ ने घुटने टेक दिए हैं।
असफ़लता लगन का मुकाबला नही कर सकती हैं। तो कही लगन का अभाव आपके अंदर भी तो नही है..!


5) असमंजस और टालमटोल दोनो जुड़वा भाई हैं।(Confusion and procrastination are both twin brothers.):-

कुछ लोग इतने असमंजस में होते है कि वे किसी कार्य को शुरू करने के लिए बस टालमटोल करते रहते हैं। यदि उन्होंने कोई निर्णय ले भी लिया तो कोई निश्चित नही होता कि वे अपने इस निर्णय पर कब तक अडिग हैं। देखा जाए तो जो व्यक्ति असमंजस में होता हैं 101% आगे जाके वो टालमटोल जरूर करेगा। क्योंकि असमंजस और टालमटोल दोनो जुड़वा भाई हैं।

यदि एक हमारे दिमाग में आया तो पूरी संभावना है कि उसके पीछे – पीछे दूसरा भी चला ही आएगा। तो अपने दिमाग की खिड़कियों को खोलिए और देखिए कही ये दोनों जुडवा भाई आपके दिमाग में तो नही रहते है..? क्योंकि हमारी असफ़लताओ का एक प्रमुख कारण यह भी हैं।


दोस्तों हमारा “ हमारी असफ़लताओ के 5 प्रमुख कारण ” Motivational Article कैसा लगा। यदि आप का इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सुझाव, शिकायत हो तो आप हमें gyaankidhara@gmail.com पर Contact कर सकते हैं धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here